corona2

द दून स्कूल में एक और छात्र में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, स्कूल को बनाया गया कंटेनमेंट जोन

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। प्रतिष्ठित द दून स्कूल में एक और छात्र में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। मंगलवार को यहां सात छात्र और पांच शिक्षक संक्रमित पाए गए थे। संक्रमित छात्रों और शिक्षकों को स्कूल परिसर में ही बने वेलनेस सेंटर में रखा गया है। इसके साथ ही स्कूल प्रशासन हाई अलर्ट पर है। हर आने-जाने वाले की निगरानी के साथ सैनिटाइजेशन और गाइडलाइन का पालन कराया जा रहा है। दून स्कूल को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। द दून स्कूल की डेवलपमेंट एंड एल्युमिनी रिलेशन एंड कम्युनिकेशन ऑफिसर कृतिका जुगराण ने बताया कि संक्रमित छात्र और शिक्षकों के संपर्क में आए सभी लोग की आरटीपीसीआर जांच करवाई जा रही है। अब तक स्कूल की ओर से 1500 जांच करवाई जा चुकी हैं। स्कूल परिसर में टीकाकरण भी शुरू हो गया है। फिलहाल सभी कक्षाओं के छात्रों को ऑनलाइन ही पढ़ाया जा रहा है।

उत्तराखंड में अब स्थिति भयावह होती जा रही है। प्रदेश में 1109 लोग संक्रमित मिले हैं। बीते साल 17 सितंबर को एक दिन में 1192 मामले आए थे। उसके बाद एक दिन में आए ये सर्वाधिक मामले हैं। इधर, कोरोना संक्रमित पांच मरीजों की मौत भी हुई है। श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में दो और एम्स ऋषिकेश, हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट व सिनर्जी अस्पताल में एक-एक मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, निजी व सरकारी लैब से कुल 31 हजार, 249 सैंपल की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जिनमें 30140 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। देहरादून में फिर कोरोना की बड़ी मार पड़ी है। यहां 509 लोग संक्रमित मिले हैं। हरिद्वार में भी 308 व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा नैनीताल में 113, ऊधमसिंह नगर में 84, पौड़ी में 57, टिहरी में 19, रुद्रप्रयाग में 10, चंपावत में पांच, अल्मोड़ा में तीन और चमोली में एक व्यक्ति संक्रमित मिला है। जबकि बागेश्वर, पिथौरागढ़ व उत्तरकाशी में संक्रमण का नया मामला नहीं मिला है। इधर, विभिन्न जिलों से आज 88 संक्रमित मरीज ठीक भी हुए हैं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.