Mahkumbh

देश की राजधानी से दिया कुंभ का न्यौता

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। हरिद्वार जिले में हो रहे भव्य कुंभ में श्रद्धालुओं को आमंत्रण करने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की ओर से प्रचार-प्रसार का अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत देश की राजधानी दिल्ली के विभिन्न जगहों में कुंभ की आकर्षक तस्वीरें लगा लोगों को कुंभ का न्यौता दिया गया है। साथ ही उत्तराखंड में होने वाले साहसिक खेलों के रोमांच को भी होर्डिंग के जरिए दर्शाया गया है। इससे पूर्व ऋषिकेश में आयोजित हुए अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का प्राचर-प्रसार भी देश के विभिन्न राज्यों में किया गया था। पर्यटन सचिव, उत्तराखंड दिलीप जावलकर ने कहा कि कुंभ देश को सांस्कृतिक, धार्मिक रूप से एकता के सूत्र में पिरोता है। कुंभ एक ईश्वरीय निमंत्रण है। इसे स्वीकार कर बड़ी संख्या में श्रद्धालु कुंभ में पहुंचते हैं। राजधानी दिल्ली में कुंभ के होर्डिंग लगा लोगों को कुंभ मेले में आने का न्यौता दिया जा रहा है। इससे पहले साहसिक खेलों और अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के लिए भी देश के दूसरे राज्यों में होर्डिंग लगा लोगों को आमंत्रित किया गया था। प्रदेश सरकार ने कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का कढ़ाई से पालन करते हुए, आटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट में शीतलता प्रदान की है। कुंभ स्नान में आने वाले श्रद्धालु बिना किसी असुविधा के सुखद संदेश लेकर जाएं, यह हम सबका दायित्व है। अभियान के तहत उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की ओर से राज्य के स्थानीय स्थलों देहरादून, जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट, हरिद्वार, पंतनगर एयरपोर्ट के साथ ही दिल्ली में जंतर-मंतर रोड, सीपी पालिका बाजार, जनपथ रोड, मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन, कैलमस फोर्ट रोड दिल्ली, सरोजनी नगर और ग्वालियर पॉटरीज के पास बड़े-बड़े होर्डिंग लगाए गए हैं। होर्डिंग के जरिए लोगों तक भव्य कुंभ और खुली रोमांचकारी खेल गतिवधियों का संदेश पहुंचाया जा रहा है। जिससे लोग हरिद्वार पहुंच पुण्य का भागी बन सकें। इस अभियान के तहत हरिद्वार में हो रहे भव्य कुंभ से देश भर के लोगों को रूबरू कराया जा रहा है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.