जीएसटी मामले पर सरकार की दोहरी नीतियों से व्यापारी वर्ग नाराज, कहा- 25 को प्रदेश भर में किया जायेगा विरोध

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। जीएसटी को लेकर सरकार की दोहरी नीतियों से व्यापारी वर्ग नाराज हैं। जिसको लेकर प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल 25 जुलाई को प्रदेश भर में जीएसटी सर्वे नीति का पुरजोर विरोध किया जाएगा। यहां पत्रकारों को जानकारी देते हुए मंडल प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा ने बताया कि जीएसटी सर्वे के नाम पर अब व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है।

श्री वर्मा का कहना था कि प्रदेश सरकार के नुमाइंदे जीएसटी सर्वे के नाम पर अनावश्यक छापेमारी कर रहे हैं। ऐसी नीतियों का व्यापारियों द्वारा पुरजोर विरोध किया जाएगा, साथ ही प्रदेश संगठन जरूरत पड़ने पर व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कर आर पार की लड़ाई लड़ने के लिए भी तैयार है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के अधिकारियों को बाजार में आकर प्रतिष्ठानों में घुसने नहीं दिया जाना चाहिए। इसके लिए प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों को निर्देशित किया जा चुका है।

प्रदेश अध्यक्ष श्री वर्मा ने कहा कि सोमवार 25 जुलाई से प्रदेश भर में जीएसटी सर्वे नीति का विरोध किया जाएगा। उन्होंने बताया प्रदेश के सभी जिला एवं नगर इकाइयों से खाद्यान्न में जीएसटी को लागू करने का पुरजोर विरोध करने का आह्वान किया है। व्यापारियों का कहना है कि प्रदेश सरकार को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले व्यापारी पर दिन प्रतिदिन दबाव बनाकर उनसे ज्यादा टैक्स वसूलने की नीति बनाई जा रही है। जिसे बंद किया जाना चाहिए। किसी भी नगर क्षेत्र में ऐसे सर्वे छापे डालने आए अधिकारियों का घेराव किया जाना चाहिए। इसके लिए नगर व जिला इकाइयों को कहा गया है कि वे आपसी सामंजस्य बनाकर अपने सहयोगी संगठनों के माध्यम से सर्वे छापे का विरोध करें।

यह भी पढ़ें -   एसपी क्राइम/ट्रैफिक नैनीताल ने राज्य स्तरीय विज्ञान महोत्सव 2022 का किया शुभारम्भ, हजारों बच्चों को नशे की बुराईयां व उत्तराखंड पुलिस ऐप से कराया अवगत

उन्होंने कहा कि इस मुहिम को हमारे प्रदेश महामंत्री द्वारा संचालित किया जाएगा। जो 25 जुलाई उसे प्रदेश संगठन की सभी जिला इकाइयों महानगर इकाइयों द्वारा अपने-अपने जिला महानगर मुख्यालयों पर मीडिया के माध्यम से जीएसटी सर्वे का विरोध करने की नीति को व्यापक रूप से अपने जिले व क्षेत्र में प्रेस वार्ता कर प्रचारित करें। उन्होंने कहा कोरोना के बाद से लगातार व्यापारी अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्रियों से मिलते आ रहा है। लेकिन आज तक व्यापारी समाज की एक भी मांग पूरी नहीं की है। उल्टा अब व्यापारियों को डरा धमका कर टैक्स बढ़ाने की मुहिम चला दी गई है। दूसरी तरफ जीएसटी काउंसिल द्वारा जीएसटी का सरलीकरण करने के बजाय इसे और पेचीदा बना दिया गया है। वर्तमान में 18 जुलाई से खाद्यान्नों पर 5 प्रतिशत का टैक्स लगा दिया गया है और अन्य कई वस्तुओं पर टैक्स रेट बढ़ाये जा सकते हैं। जिसका व्यापारी पुरजोर विरोध करेंगे। जरूरत पड़ने पर प्रदेशव्यापी आंदोलन के लिए मैदान में उतरेंगे।
वार्ता में मुख्य रूप से संरक्षक बाबूलाल गुप्ता, जिलाध्यक्ष बिपिन गुप्ता, जिला महामंत्री हर्षवर्द्धन पाण्डे, युवा जिलाध्यक्ष सौरभ भट्ट, राजेश अग्रवाल सहित आदि पदाधिकारीगण मौजूद रहें।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.