accident death

हल्द्वानी से पूजा-अर्चना को पिथौरागढ़ आया था पूर्व शिक्षक का परिवार, वापस लौटते हुए कार खाई में गिरी, चार महिलाओं की मौत, दो घायल

खबर शेयर करें

समाचार सच, थल (पिथौरागढ़)। थल से दस किमी दूर अस्कोट-कर्णप्रयाग मोटर मार्ग में पमतोड़ी के पास एक कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गयी। हादसे में एक ही परिवार की तीन महिलाओं समेत एक रिश्तेदार महिला की मौत हो गयी। जबकि दो पुरूष घायल हो गये। हल्द्वानी से शिक्षक अपनी निजी कार से अपने परिवार के साथ गांव में पूजा अर्चना के लिये आया था। वापस लौटते हुए यह दुखद हादसा हो गया।

जानकारी के अनुसार मूलरूप से पूनी गांव निवासी पूर्व शिक्षक चंदन सिंह बसेड़ा अपने परिवार के साथ यहां हल्द्वानी में रहने लगे थे। वह अपने परिवार के साथ अपनी निजी कार यूपी 02ए-6409 से पिथौरागढ़ पूनी गांव पूजा-अर्चना के लिये गये हुए थे। रविवार को पूजा-अर्चना के बागेश्वर को एक रिश्तेदार को बागेश्वर छोड़ने जा रहे थे। रास्ते में थल से करीब नौ किमी की दूरी पर पमतोड़ी के पास उनकी कार अनियंत्रित होकर उनकी कार गहरी खाई में गिर गयी। इस हादसे में कार में सवार 53 वर्षीया तुलसी देवी पत्नी चंदन सिंह बसेड़ा, 50 वर्षीया आशा बसेड़ा पत्नी गोविंद सिंह निवासी पूनी गांव हाल निवासी हल्द्वानी, 50 वर्षीया तारा देवी पत्नी बलवंत सिंह नगरकोटी निवासी मंडलसेरा बागेश्वर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि 90 वर्षीया देवकी देवी पत्नी धन सिंह बसेड़ा निवासी पूनी गांव हाल निवासी हल्द्वानी ने थल गोचर चिकित्सालय में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जबकि कार चला रहे 61 वर्षीय चंदन सिंह बसेड़ा पुत्र धन सिंह बसेड़ा तथा उनका छोटा भाई 57 वर्षीय गोविंद सिंह बसेड़ा घायल हो गए। मृतका तुलसी देवी बागेश्वर के जूनियर हाईस्कूल में शिक्षिका थी।

यह भी पढ़ें -   पुलिस ने गश्त के दौरान सट्टे की खाईबाड़ी करते युवक को धर दबोचा

बताया जा रहा है कि चंदन सिंह कार के खाई में गिरने के दौरान वाहन से छिटक गये और घायलावस्था में खाई से घिसट कर सड़क पर पहुंचे। उसी दौरान उसने बाइक से कहीं जा रहे नाचनी निवासी दो युवाओं को दुर्घटना के बारे में बताया। थल से पुलिस, युवा, एसडीआरएफ मौके पर पहुंच गई और शवों व घायलों को खाई से बाहर निकाला। पुलिस ने कार्रवाई कर शवों के पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।

यह भी पढ़ें -   शराब पीने से मना किया तो शुरू कर दी मारपीट

पुलिस के के अनुसार पूर्व शिक्षक चंदन सिंह बसेड़ा का परिवार तीन साल बाद पूजा के लिए गांव आया था। शनिवार को परिवार ने डीडीहाट के सिराकोट के मलयनाथ मंदिर में पूजा की थी। रविवार को अपने दूसरे गांव चौबाटी के साता के जगतमल मंदिर में पूजा अर्चना की। बाद में गोविंद सिंह अपनी साली को बागेश्वर छोड़ने जाते वक्त यह हादसा हो गया।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.