खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ साथ आयुर्वेद में भी इसका अपना स्थान

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। मेथी एक बहुत ही मशहूर जड़ी बूटी हैं जिसे भारत के हर रसोई में इसका इस्तेमाल क्या जाता हैं खाने को और स्वादिष्ट बनाने के लिए और इसे आयुर्वेद में एक खास स्थान दिया गया हैं इसके सारै गुणों के व्जह से इसे आयुर्वेद में बहुत सारी दवा में इस्तेमाल क्या जाता हैं। मेथी में एंटीऑक्सीडेंट साथ साथ बहुत सारे मिनरल्स भी मिलता हैं जैसे आयरन मैग्नेशियम पोटासियम इत्यादि।
इसके नियमित सेवन से इसमें मौजूद ग्लाक्टोमेनोन और पोटासियम ब्लडप्रेशर कम करता हैं साथ मे यह हार्टअटैक से भी बचता हैं साथ ही यह शुगर को भी कंट्रोल करता हैं इसमें मौजूद सेलुबाल हायबर्स ब्लड शुगर को कंट्रोल करके डाईबेटिस के खतरे को कम करता हैं इसके अलाबा यह आपका पाचन क्रिया को भी मजबूत करता हैं साथ में कब्ज सहित पेट के बहुत सारि अंदरूनी बिमारियों को भी यह ठीक करता हैं।
मेथी के फायदे
इसके साथ जिन लोगों को बढ़ते वजन से परेशानी हो रही हैं उनके लिए तो यह किसी वरदान से कम नहीं रोज सुबह भीगे हुए कुछ मेथी दाने खाली पेट खाने से वजन कंट्रोल में रहता हैं। काले और लम्बे बालों के लिए भी मेथी का उपयोग काफी मददगार होता है अगर आपके बाल समय से पहले ही पक गए हैं और झड़ भी रहे हैं तो मेथी आपका काम आ सकती हैं रोज 2 हफ्ते सुबह खाली पेट कुछ मेथी के दाने भीगो कर खाने से बाल जल्दी सफ़ेद नहीं होते और लम्बा घना मुलायम भी होता हैं।
मेथी पाउडर के फायदे -शरीर में खून की कमी को भी मिटाता हैं। मेथी में मौजूद आयरन शरीर में खून बढ़ाता हैं और खून भी साफ करता हैं साथ में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता हैं। गैस्ट्रिक एसिडिटी जैसी समस्या को भी यह कम करता है रोज कुछ भीगे हुए मेथी के औषधीय गुण सभी बीमारियों को यह जड़ से मिटाता हैं साथ में यह यूरिन इंफेक्शन को भी मिटाता हैं। मेथी के दाने जोड़ो के दर्द को भी कम करता है।
अंकुरित मेथी के फायदे
अंकुरित मेथी के फायदे किसी भी अंकुरित अनाज के फायदों जितने ही बराबर होता हैं जैसे की अंकुरित छोले। अंकुरित मेथी में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं जैसेए फाइबर, पोटेशियमए विटामिन सी, आयरन, प्रोटीन, नियासिन तत्व मौजूद होते हैं। आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली में भी अंकुरित मेथी का एक खास जगह हैं जो औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। मेथी के डेन हो या अंकुरित मैथी दोनों ही स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा मन जाता हैं।
हरी मेथी के फायदे
अंकुरित मेथी की तरह ही हरी मेथी के फायदे बेशुमार हैं। हरी मेथी में डाओस्जेनिन नामक एक यौगिक होता है जो एस्ट्रोजन सेक्स हार्माेन जैसा काम करता है। और इसी योगिक के कारन मेथी गुण कई ज्यादा बढ़ जाता है। जिसके कारण वह हरी मेथी स्वास्थ्य से लेकर खुबसूरती में निखार में भी सहायक होता हैं।
कब्ज के शिकार व्यक्ति अगर हरी मेथी का सेवन करे तो उनके लिए यह रामबाण इलाज हैं। हरी मेथी न सिर्फ कब्ज से छुटकारा दिलाता हैं बल्कि पाचन से जुड़ी सारी समस्याओं को भी मिटाता हैं। एक्सपर्ट्स की मने तो हरी मेथी अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी सहायक होता हैं।
शुगर में मेथी के फायदे
मेथी दाना हो या मेथी के पत्ते में दोनों ही मधुमेह के इलाज में काफी फायदेमंद होते हैं। मेथी न सिर्फ मधुमेह में प्रभाबी हैं बल्कि यह बालो के लिए भी उतनाही फायदेमंद हैं। वैज्ञानिको ने कई तरह के इसमें शोध किये जिससे यह पता चलता हैं की मेथी के बीजों में मौजूद पोषक तत्व मधुमेह को काफी हद तक कम कर देता हैं। पर यह कभी कभी शरीर पर दुष्प्रभाव भी डाल सकते हैं जैसे उलटी आना। इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।
मेथी चूर्ण/पाउडर के फायदे
बालों के लिए मेथी चूर्ण/पाउडर का उपयोग बहुत फायदेमंद होता हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, मेथी के बीज में काफी मात्रा में प्रोटीन पाये जाते हैं, जो बालों के लिए जरूरी होता है। मेथी चूर्ण को अपने इस्तेमाल किये जाने वाले तेल में मिलाकर बालों में लगाने से गंजापन, बालों का झड़ना, बालों का पतला होना इत्यादि बालों के समस्या से छुटकारा मिल जाता हैं। मेथी में लेसिथीन नामक एक खास तरह का यौगिक भी मौजूद होता हैं जो बालों को प्राकृतिक रूप से मजबूत बनाये रखने में मदद करता हैं और इससे रुसी भी दूर हो जाती हैं।
मेथी खाने के नुकसान-
किन लोगों को मेथी के दाने या भीगे हुए पानी नहीं लेना चाहिए? मेथी जितना स्वस्थवर्धक हैं इसके ज्यादा इस्तेमाल से कुछ नुकसान भी हैं। ज्यादा मेथी के सेवन से उलटी या दस्त जैसी समस्या हो सकती हैं इसके इस्तेमाल करने से पहले आप अपने त्वचा में थोड़ी सी मात्रा लगाके इसकी जांच करले की कोई जलन या एलर्जी तो नहीं हो रहे क्योंकि हर दवा हर किसी को सूट नहीं करता। महिलायें प्रेग्नेंसी के दौरान इसका इस्तेमाल बिलकुल न करे क्योंकि मेथी बहुत गर्म प्रकृतिक की होती हैं इसका ज्यादा इस्तेमाल से सीने में जलन सूजन जैसी बीमारी का लक्षण सामने आ सकता हैं। इसीलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *