पार्वती किरौला ने गरीब बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने का उठाया बीड़ा, दे रही हैं 40 बच्चों को निःशुल्क शिक्षा

खबर शेयर करें


समाचार सच, हल्द्वानी (अजय चौहान)। कोई गरीब बच्चा शिक्षा से वंचित न रहने पाये इस बड़े संकल्प के साथ बीपीएल शिक्षा प्रयास समिति की संस्थापक एवं अध्यक्षा श्रीमती पार्वती किरौला लगभग 40 बीपीएल श्रेणी के बच्चों को वर्तमान में निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध करा रही है। यही नहीं बच्चों को शैक्षणिक सामग्री के साथ ही बच्चों की रूचि बनी रहे इसलिए कक्षा के बाद उन्हें टॉफी, बिस्कुट, फल आदि उपलब्ध कराया जाता है। इसके साथ ही जिन बच्चों का कोराना के कारण स्कूल छूट गया तथा और उनके नाम स्कूल से कट गये थे, उनके शपथ पत्र बनवा कर पुनः स्कूल में एडमिशन दिलाया, ताकि उनका भविष्य उज्वल हो सके और राष्ट्र निर्माण में सहयोग कर सकें।
आपको बताते चले कि श्रीमती किरौला हल्द्वानी खालसा गर्ल्स इन्टर कालेज की रिटार्यड प्रवक्ता है और कैंसर से पीड़ित होने पर भी 2020 व 2021 में अपने व्यय पर स्वनिर्मित लगभग 6 हजार मास्क तैयार कर विभिन्न संस्थाओं, पुलिस एवं कई क्वारंटीन केन्द्रों में जाकर स्वयं वितरित किये गये। जिसके लिये कुछ स्थानीय संस्थाओं एवं प्रेस द्वारा सम्मान पत्र से सम्मानित किया गया। इन सभी कार्यों के आधार पर वर्ष 2021 का नैनीताल जिले से पार्वती किरौला को ‘राज्य स्त्री शक्ति तीलू रौतेली’ पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया।श्रीमती पार्वती किरौला पिछले कई वर्षों से गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान कराने का कार्य सफलता पूर्वक चला रही है। बीपीएल शिक्षा प्रयास समिति के माध्यम से वर्तमान में लगभग 40 गरीब छात्राओं को निःशुल्क शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। आज के युग मे सफलता शिक्षा में ही छिपी हुई है पर बहुत से गरीब प्रतिभावान बच्चे पैसों की वजह से शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाते। समिति की अध्यक्षा श्रीमती किरौला सफलतापूर्वक इस मुहिम को आगे बढ़ा रही है। उनका उद्देश्य है कि सफलता के आगे गरीबी-अमीरी पीछे रह जाये और प्रतिभावान बच्चों का नवनिर्माण हो सके।
संस्था की पार्वती किरौला ने सोमवार को अपने कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि अचानक गरीब बच्चों की स्थिति देखकर योजना बनी कि क्यों न इन्हें शिक्षित कर सुयोग्य नागरिक बनाने में सहयोग किया जाय। देखते ही देखते कारवां बढता चला गया और अब तो उनके पति एडवोकेट जीएस किरौला, बहू गायत्री किरौला, सरिता रानी अग्रवाल, दिप्ति खर्कवाल, मीनाक्षी शाह, नीरू भल्ला एवं समिति संरक्षक प्यारे लाल वर्मा, प्रीति बिष्ट, रोहित जोशी आदि इस मुहिम में उनके साथ हैं। उन्होंने बताया कि यह काम आसान नहीं था, सबसे पहले तो बच्चों के अभिभावकों को मानसिक रूप से तैयार किया गया और शुरूआत में बहुत कम बच्चे आये लेकिन अब तो बच्चों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिन्हें पढ़ाने हेतु शिक्षिकायें रखी गयी है, जिन्हें भी वह अपने व्यय पर ही कुछ पारिश्रमिक देती आ रही हूं।
समिति अध्यक्षा ने बताया कि जिस प्रकार से इस कार्य की सराहना हो रही है साहस बढ़ा है और इसका चरणबद्ध विस्तार जारी रहेगा। इस सामाजिक कार्य के लिये उन्होंने समाज के समर्थ लोगों का भी आवाहन किया है कि लोग इस नेक कार्य को आगे बढ़ाने में योगदान दें। जिससे कोई गरीब छात्र ज्ञान के प्रकाश से वंचित न रहे सकें।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.