दुःखद समाचार: हल्द्वानी महानगर के प्रसिद्ध 86 वर्षीय मुरली महाराज नहीं रहें, विभिन्न संगठनों ने सोशल मीडिया के माध्यम से दी श्रद्धाजंलि

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। महानगर हल्द्वानी के प्रसिद्ध कथावाचक 86 वर्षीय मुरली महाराज (विष्णु दत्त जोशी) का रविवार की सुबह निधन हो गया है। वह लम्बे समय से अस्वस्थ चल रहे थे। दो दिन पहले ज्यादा स्वस्थ्य खराब होने उन्हें हल्द्वानी के एक निजी हास्पिटल में भर्ती कराया था। जहां आज सुबह उन्होंने अन्तिम सांस ली। उनके निधन से धार्मिक व कला प्रेमियों में शोक की लहर दौड़ गयी है। इधर उनके निधन पर विभिन्न संगठनों ने सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें श्रद्धाजंलि दी हैं। उनका अंतिम संस्कार शाम को रानीबाग चित्रशिला घाट में किया गया।

यह भी पढ़ें -   ढोल बजाकर पीडब्ल्यूडी विभाग को जनता ने किया जगाने का प्रयास

आपकों बता दें कि हल्द्वानी के पांडे निवास मोहल्ले में रहने वाले महाराज जी राधाकृष्ण मंदिर का संचालन करते थे। धार्मिक प्रवचन के साथ साहित्यिक व सांस्कृतिक गतिविधियों में भी उनका विशेष योगदान हमेशा रहता था। स्व0 मुरली महाराज अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गये हैं।

प्रान्तीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने जताया शोक
प्रान्तीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल जिला इकाई नैनीताल के पदाधिकारियों ने हल्द्वानी में मुरली वाले महाराज के नाम से विख्यात विष्णु दत्त जोशी जी के निधन पर गहरा दुख प्रगट किया हैं। संगठन के जिला महामंत्री हर्षवर्द्धन पांडे द्वारा संगठन की ओर से उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर संगठन की ओर से श्रद्धाजंलि देते हुए कहा कि उनके निधन से हल्द्वानी में संगीत की दुनिया का एक अध्याय का अंत हुआ है। जिलाध्यक्ष विपिन गुप्ता ने कहा कि हम उनके सुपुत्र व्यापक जोशी जी व उनके परिवार को इस दुखद समय पर साहस व धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना करते है। उनके निधन पर प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा के द्वारा भी गहरा दुख प्रगट किया गया हैं। मण्डल के जिला युवा अध्यक्ष दिनेश अग्रवाल ने उनके निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनका जाना धार्मिक व सामाजिक क्षेत्रों के लिये अपूर्णीय क्षति हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *