हल्द्वानी महानगर में हुई दस चोरियों का खुलासा, शातिर अपराधी पिद्दा गिरफ्तार, जेल से छूटते ही ताबड़तोड़ चोरियो को दिया अंजाम

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। पुलिस ने हल्द्वानी महानगर में हुई दस चोरियों का खुलासा मंगलवार को खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में एक शातिर अपराधी पिद्दा को गिरफ्तार किया है। उक्त शातिर अपराधी पिद्दा ने जेल से छूटने के बाद इन ताबड़तोड़ चोरियों की वारदातों को अंजाम दिया था। पुलिस ने पिद्दा को पूर्व में भी 28 मुकदमों में जेल भेजा है।

मंगलवार को यहां बहुउद्देशीय भवन में पत्रकारों को उक्त चोरियों का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने बताया कि विगत दिनों महानगर में ताबड़तोड़ हो रही चोरियों को लेकर उनके द्वारा तत्काल पुलिस टीम गठन कर घटनाओं के खुलासे के निर्देश दिए गए थे। इस क्रम में हरवंश सिंह अपर पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी भूपेन्द्र सिंह धौनी के पर्यवेक्षण में हरेन्द्र सिंह चौधरी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली के नेतृत्व में टीम गठित की गयी थी। पुलिस टीम के द्वारा क्षेत्र में हो रही चोरियो के अनावरण हेतु हल्द्वानी, लालकुआ, रूद्रपुर जनपद उधमसिंह नगर क्षेत्र के सी0सी0टी0वी0 कैमरो का अवलोकन किया गया था और पुराने चोरांे एंव संदिग्धों से लगातार पूछताछ एवं पतारसी सुरागरसी की गयी। इस कड़ी में पुलिस द्वारा लगभग 350 सी0सी0टी0वी0 कैमरो की फुटेज खंगाली गयी। जिसमें पुलिस टीम के हत्थे महत्वपूर्ण सुराग लगे। जिसमें उपरोक्त घटनाओं में संलिप्त अभि0 प्रमोद कुमार उर्फ पिद्दा पुत्र स्व0 बची राम नि0 दीना डी क्लास हल्दूचौड़ थाना लालकुआ को मुखबिर की सूचना पर कत्था फैक्ट्री टी0पी0नगर के पास से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभि0 प्रमोद पिद्दा एक शातिर नकबजन है। जिसके द्वारा पूर्व में भी हल्द्वानी मुखानी, काठगोदाम, बनभूलपुरा, लालकुआ आदि थानाक्षेत्रों में कई नकबजनी की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। जिसके विरूद्ध अब तक लगभग जनपद नैनीताल में 28 अभियोग चोरी एनडीपीएस एक्ट गैंगस्टर एक्ट के अलग-अलग थानों में दर्ज हैं। अभियुक्त प्रमोद पिद्दा 2 माह पूर्व ही जेल से छूटकर आया है। जेल से छूटते ही उसके द्वारा ताबड़तोड़ चोरियो को अंजाम दिया गया। प्रमोद पिद्दा का अपराध करने का तरीका पूर्व में भी इसी प्रकार रहा है और इस बार प्रमोद पिद्दा द्वारा जेल से छूटने के उपरान्त अपना हुलिया भी बदल लिया था।

यह भी पढ़ें -   सीएम धामी ने ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण विधानसभा में किया ध्वजारोहण, आजादी की 75वीं गौरवशाली वर्षगांठ की दी बधाई

पिद्दा के द्वारा की गयी चोरियां
-13 जनवरी को रात्रि में जीवन लाल निवासी तीनपानी स्थित साई डिजिटल फोटो स्टूडियो दुकान का ताला तोड़कर लगभग 1300 रुपए चोरी,
-तनूज सोनकर निवासी तीनपानी की मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान से ताला तोड़कर लगभग 12700/- रू0 चोरी।
-बबलू कश्यप निवासी तीनपानी की प्रिसं टेलर नाम से कपड़े की दुकान से ताला तोड़कर लगभग 1100 रू0 चोरी।
-चम्पा मेहता निवासी तीनपानी की माँ कालिका गृह उद्योग नाम की दुकान से ताला तोड़कर लगभग 16000/- रू0 व अन्य सामान चोरी।
-श्रीमती कविता निवासी तीनपानी हल्द्वानी की डॉ लाल पैथोलोजी लैब से ताला तोड़कर लगभग 6500/- रू0 चोरी।
-9 जनवरी रविवार की रात्रि में
-दलीप रावत निवासी सत्यलोक कालोनी टी0पी0 नगर की दुकान महालक्ष्मी इन्टरप्राइजेज का तालातोड़कर 5000 रू0 एंव मोबाइल फोन चोरी।
-तारा सिंह राणा निवासी सत्यलोक कालोनी टी0पी0नगर की दुकान मेटलिंग मुवमेन्ट बेकरी से ताला तोड़कर लगभग 3000 रू0 व पर्स चोरी।
-नीरज आर्या की दुकान जय माँ ट्रैडर्स, देवीदत्त सनवाल की जय माँ बाराही नाम की दुकान व ललित मिगलानी की फास्ट फूड की दुकान में भी ताला तोड़कर सेंधमारी की गयी जहाँ पर से चोरो के हाथ कोई भी सामान व नकदी नही मिली।

यह भी पढ़ें -   दुकानें बंद होने के चलते महंगे दामों में शराब बेचने ले जा रहे रास्ते में आये पुलिस की गिरफ्त में

सफलता प्राप्त करने वाली पुलिस टीम:
-हरेन्द्र चौधरी, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली
-उ0नि0 विजय पाल सिंह, चौकी प्रभारी मण्डी
उ0नि0 मनोज कुमार, चौकी प्रभारीटी0पी0नगर
हे0का0 गणेश कुमार
हे0का0 मौ0 आकिल
का0 जगदीश भारती
का0 सुरेन्द्र सिंह-हल्द्वानी
का0 जितेन्द्र कुमार
का0 विरेन्द्र चौहान
का0 इसरार नवी
का0 इसरार अहमद
का0 वंशीधर जोशी
का0 भगवान सिंह सैलाल

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.