जीवित महिला को कागजों में दर्शाया मृत, जनता दरबार में महिला ने की डीएम से शिकायत

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। जीवित होने के बाद भी एक महिला कागजों में 18 साल से मृतक दर्शाया गया है। महिला ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से की है। डीएम ने एसडीएम को जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

बुधवार को आयोजित जनता दरबार में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल के समक्ष 24 समस्याएं उठी। जिसमें प्रमुख रूप से सड़क, पानी, शिक्षा, बीमारी ईलाज, प्रमाण पत्र, मुआवजा, फीस माफी, शौचालय, रोजगार आदि शामिल रही। जनता दरबार में गोरापड़ाव निवासी भावना देवी ने भी अपनी फरियाद दर्ज कराई। उसने बताया कि जीवित होने के बाद भी उसे वर्ष 2003 से फाईलों में मृतक दर्शाया गया है। इस संबंध में उसने साजिश रचने के लिए गोविन्द बल्लाभ के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। इस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम को मामले की जांच कर तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें -   धर्म छुपा कर पहले की दोस्ती, फिर शादी का झांसा देकर युवती से किया दुष्कर्म

ओखलकांडा देवली निवासी जगदीश चन्द्र ने कोविड संक्रमण होने पर निजी अस्पताल पर आयुष्मान कार्ड स्वीकार न करने की शिकायत दर्ज कराई। कहा कि अस्पताल से उसे 1.90 लाख का बिल थमा दिया। इस पर मुख्य चिकित्साधिकारी को चिकित्सा प्रतिपूर्ति प्राधिकरण से धनराशि दिलाने के निर्देश दिये गये। भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष कमल मुनि व पार्षद मनोज काण्डपाल ने नवीन मण्डी पर गन्दे नाले से जलभराव व सड़क पर बने गड्ढ़ों से निजात दिलाने की गुहार लगाई। इस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता सिचाई एवं एनएच को कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जनसुनवाई में अपर जिलाधिकारी हरवीर सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, उप जिलाधिकारी मनीष कुमार, ईई जलसंस्थान एसके श्रीवास्तव, लोनिवि अशोक कुमार आदि मौजूद रहे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *