उत्तराखण्ड में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं : अशोक कुमार

खबर शेयर करें

हल्द्वानी में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम में डीजीपी के समक्ष लोगों ने रखी अपनी-अपनी समस्याएं

समाचार सच, हल्द्वानी। उत्तराखण्ड में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, पुलिस अपराध करने वालों को लगातार सलाखों के पीछे भेजने का कार्य कर रही है। उक्त विचार पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने हल्द्वानी एक बैंकट हाल में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम में रखे। जनसंवाद कार्यक्रम में लोगों ने डीजीपी के सामने अपनी – अपनी समस्याएं भी रखी। डीजीपी ने माना कि अपराधों में लगामार बढ़ोत्तरी हो रही है लेकिन पुलिस तत्परता से अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजने का काम कर रही है। डीजीपी अशोक कुमार ने लोगों द्वारा उठाई गई समस्याओं का निदान करने के लिए एसएसपी को निर्देश दिए।

डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि अपराधों की रोकथाम के लिए जनसहयोग भी जरूरी है। इसके लिए जनता और पुलिस के बीच बेहतर सामंजस्य का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि वाहन चोरी की घटना में कभी कभी पुलिस रिपोर्ट दर्ज नहीं कर पाती है जिस कारण से लोगों को भी दिक्कतें उठानी पड़ती है। ऐसे में अब उत्तराखंड पुलिस ईएफआईआर प्रणाली लाने जा रही है जिसके तहत पीड़ित ऑनलाइन रिपोर्ट दर्ज कर सकेंगे। एक महीने में इस व्यवस्था को शुरू कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   कच्ची शराब के साथ युवक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

साइबर ठगी की बढ़ती वारदातों को देखते हुए पुलिस पूरी तरह से सतर्क है। साइबर अपराधियों को पकड़ने और इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए अब और अधिक प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। साइबर क्रिमिनल्स को पकड़ने के लिए एसटीएफ को शामिल किया गया है।

जनसंवाद में पहुंची एक महिला ने साइबर ठगी की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए। महिला का कहना था कि साइबर ठगी होने पर पुलिस पीड़ित लोगों को सहयोग नहीं करती है। रिपोर्ट दर्ज कराने में टाला मटोली की जाती है।

जनसंवाद कार्यक्रम में मेयर डा. जोगेंद्र पाल सिंह रौतेला ने पुलिस की कार्यशैली की जमकर तारीफ की। कहा कि पुलिस बेहतर ढंग से काम कर रही है। जिससे अपराधों पर काफी हद तक अंकुश लगा है। वहीं विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि नशे की बढ़ती प्रवृत्ति आज समाज के लिए सबसे बड़ी चिंता बन गई है। उन्होंने कहा कि नशे के सौदागार पहले युवाओं को नशे की लत लगाते हैं फिर उन्हें नशे के काले कारोबार में धकेल देते हैं। नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए एंटी ड्रग टास्क फोर्स का गठन करने की जरूरत है जो सिर्फ और सिर्फ नशा का कारोबार करने वालों की धर पकड़ करे।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में अब चोरों ने कोरियर कंपनी के गल्ले से उड़ाई लाखों की रकम

जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान डीजीपी अशोक कुमार ने उत्कृष्ट करने वाले पुलिस कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। साथ ही उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। सम्मानित होने वालों में एसओजी प्रभारी नंदन सिंह रावत, कां. पुष्कर सिंह रौतेला, कुंदन कठायत, इकरार नबी, इकरार अहमद, दीवान सिंह शामिल रहे।

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.