आयुर्वेद के ये नुस्खे बिना साइड इफेक्ट करेंगे बीमारियों की छुट्टी

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। महिलाएं अक्सर काम के चक्कर में इतना बिजी हो जाती हैं कि उन्हें अपने खान-पान का भी ध्यान नहीं रहता खासकर मैरिड वुमेन। महिलाएं इतना बिजी रहती हैं कि वो वह ना तो समय पर खाती है और ना ही टाइप पर सोती है। इसी चक्कर में वह सेहत को खराब कर लेती हैं।
भारतीय महिलाएं खून की कमी, पीसीओडी, बढ़ते वजन, थाइरायड जैसी बीमारियों की तेजी से शिकार हो रही हैं, जिससे छुटकारा पाने वो दवाइयों का सहारा लेती हैं। मगर, ज्यादा दवाइयों का सेवन भी लिवर पर असर डालता है।
ऐसे में आज हम आपके कुछ आयुर्वेदिक टिप्स बताएंगे, जिससे आपकी परेशानि भी दूर हो जाएगी और कोई साइड-इफैक्ट भी नहीं होगा। चलिए जानते हैं महिलाओं की कुछ 10 कॉमन के आयुर्वेदिक टिप्स.
मोटापा

सबसे पहले बात करते हैं मोटापे की, जो आजकल हर महिला में ही देखने को मिल रही है। इसे कंट्रोल करने के लिए सुबह मेथी वाला पानी बनाकर पीएं। इसके लिए मेथी के दानों को रातभर पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इसमें शहद मिलाकर पी लें। आप चाहें तो वेट लूज के लिए ब्लू टी, ग्रीन टी जैसी हर्बल चाय भी पी सकती हैं। डाइट पर भी ध्यान दें और रेगुलर एक्सरसाइज करें।
थायराइड
लगभग हर 10 में 8 महिला थायराइड की समस्या से परेशान है। प्याज को दो हिस्सों में काटकर सोने से पहले थायराइड ग्घ्लैंड के आस-पास क्घ्लॉक वाइज मसाज करें। इसके अलावा रोजाना हल्दी वाला दूध पीने से भी थायराइड कंट्रोल में रहता है।
पीसीओडी
पीसीओडी की शिकार हैं तो बाहर का ऑयली-जंक फूड पूरी तरह से अवाइड करें और हरी सब्जियां फाइबर फूड खाएं।
पीसीओएस
दालचीनी का सेवन शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ने से रोकता है। 1 चम्मच दालचीनी पाउडर को गर्म पानी में मिलाकर रोजाना पीने से पीसीओस की समस्या दूर हो जाती है।
पीरियड्स प्रॉब्लम्स
पीरियड्स खुल कर नहीं आते तो गाजर का जूस पीएं। वहीं आयुर्वेदिक नुस्खा अपनाना है तो अशोक के पेड़ की 90 ग्राम छाल को 30 मिलीलीटर पानी में 10 मिनट तक उबालें और छान कर दिन में 2 से 3 बार पीएं।
ब्रेस्ट प्रॉब्लम्स से बचने का नुस्खा
ब्रेस्ट की हफ्ते में 1 बार ऑलिव ऑयल से मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। इससे ब्रेस्ट का ढीलापन दूर और स्तनों से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम रहता है।
बॉडी पेन
दिनभर काम करने के बाद महिलाओं को थकान हो जाती है जिसके कारण उन्हें बढ़ती उम्र के साथ जोड़ों में दर्द और गठिया रोग हो सकता है। इसलिए हफ्ते में 1 बार बॉडी ऑयल मसाज जरूर करवाएं।
वैजाइना इंफैक्शन
वैजाइना इंफैक्शन से छुटकारा पाने के लिए नीम के गुनगुने पानी से प्राईवेट पार्टी की सफाई करें। दिन में 2 बार ऐसा करने से आपको जल्द राहत मिलेगी।
माइग्रेन व सर्वाइकल पेन
माइग्रेन की परेशानी होने पर पुदीने के तेल की मालिश करने से राहत मिलती है। वहीं गर्म पानी में 1 चम्मच सेंधा नमक मिलाकर प्रभावित जगह पर पट्टी करने से सर्वाइकल पेन में राहत मिलेगी।
यूटीआई इंफैक्शन
रोजाना 1 गिलास क्रेनबेरी का जूस पीएं। यूटीआई इंफेक्शन दूर करने में यह बहुत लाभकारी है। 3-4 दिन इसका सेवन करने से आराम मिलता है। साथ ही खाली पेट लहसुन खाने से भी फायदे होगा।
ब्लड प्रेशर
प्याज के रस में 1 चम्मच शुद्ध देसी घी मिलाकर खाने से इस बीमारी में आराम मिलता है। इसके अलावा रोजाना तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने से भी बीपी कंट्रोल ठच् ब्वदजतवस रहता है।
हेयर फॉल
झड़ते बालों की समस्या भी आजकल महिलाओं में आम देखने को मिलती है। इससे छुटकारा पाने के लिए शिकाकाई, रीठा, आंवला के पानी से बाल धोएं। साथ ही हफ्ते में 2-3 बार ऑयल मसाज करें। छाछ से बाल धोने पर डैंड्रफ की समस्या नहीं होगी।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *