Mask

Covid-19 : देर तक फेस मास्क पहनने से हो सकती हैं स्किन समस्याएं, बचने के लिए करें ये उपाय…

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। देर तक फेस मास्क पहनने से हो सकती हैं स्किन समस्याएं, जानें बचने के लिए क्या करें उपाय हैं। गर्मी के मौसम के कारण ज्यादा देर तक फेस मास्क पहनने से मुंह पर जलन और खुजली की समस्या हो सकती है। जिन लोगों को बहुत ज्यादा पसीना आता है, वो अगर देर तक चेहरे पर मास्क लगाए रखते हैं, तो उनकी स्किन और ज्यादा पसीना छोड़ती है। ऐसे में ज्यादा पसीने के कारण व्यक्ति को बैक्टीरियल इंफेक्शन की समस्या हो सकती है।
कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए लोग इस समय घरों में बंद हैं। जो लोग जरूरी कामों से घर से निकल भी रहे हैं वो फेस मास्क पहनकर निकल रहे हैं। देर तक फेस मास्क पहनने के कारण कुछ लोगों को स्किन संबंधी समस्याएं हो रही हैं। इनमें से कुछ समस्याएं फेस मास्क देर तक पहनने के कारण लगातार निकल रहे पसीने और मास्क से चेहरे की रगड़ के कारण हो रही हैं, तो कुछ समस्याएं मास्क के कपड़े के कारण भी हो रही हैं। गर्मी के मौसम के कारण ज्यादा देर तक फेस मास्क पहनने से मुंह पर जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है। वहीं कई लोगों की स्किन बहुत ज्यादा सेंसेटिव होती है जिसके चलते उन्हें मुंह पर मास्क पहनने से एलर्जी भी हो जाती है।

इसी संदर्भ में बताया गया है कि फेस मास्क को ज्यादा देर तक कैरी करने के कारण स्किन पर कई तरह की परेशानियां नजर आने लगती हैं। हालांकि कुछ आसान तरीकों की मदद से लगातार फेस मास्क पहनने के कारण त्वचा पर होने वाली समस्याओं को ठीक किया जा सकता है। आपको बताते हैं फेस मास्क से होने वाली समस्याओं के बारे में और उनके कैसे आप बच सकते हैं।

फेस मास्क से होने वाली स्किन समस्याएं – जिन लोगों को बहुत ज्यादा पसीना आता है, वो अगर देर तक चेहरे पर मास्क लगाए रखते हैं, तो उनकी स्किन और ज्यादा पसीना छोड़ती है. ऐसे में ज्यादा पसीने के कारण व्यक्ति को बैक्टीरियल इंफेक्शन की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कुछ लोगों को फेस मास्क के कपड़े के कारण रैशेज, खुजली, ड्राईनेस, पिंपल्स, डर्मेटाइटिस जैसी कई तरह के स्किन इंफेक्शन हो सकते हैं।
एक्सपर्ट्स की मानें तो फेस मास्क पहनने के बाद सांस लेने के दौरान मुंह के आसपास की त्वचा का तापमान काफी ज्यादा बढ़ जाता है, जिससे स्किन की ऊपरी पर्त में नमी आ जाती है और बैक्टीरिया को विकास के लिए सही माहौल मिल जाता है। यही कारण है कि देर तक मास्क पहनकर रहने से कई तरह के स्किन इंफेक्शन्स हो सकते हैं। आपको बता दें कि इसका खतरा उन पुरुषों को ज्यादा होता है, जिनकी दाढ़ी लंबी और घनी होती है।
अगर मास्क पहनने से पहले त्वचा को अच्छी तरह माइश्चराइज किया जाए तो स्किन समस्याओं से बचा जा सकता है।

फेस मास्क से भी हो सकती हैं समस्याएं – आमतौर पर एन95 फेस मास्क को पॉलीप्रोपिलीन से बनाया जाता है, जो कि एक ऐसा फैब्रिक है, जिसकी बुनाई नहीं की जाती है। डिस्पोज किए जाने वाले एन95 सर्जिकल मास्क में आमतौर पर 4 पर्तें होती हैं। इनमें से सबसे अंदर वाली पर्त, जो मुंह के सीधे संपर्क में आती है वह भी पॉलीप्रोपिलीन से ही बनी होती है। सभी प्रकार के प्लास्टिक में से वैसे तो पॉलीप्रोपिलीन को स्किन के लिए सुरक्षित माना जाता है लेकिन कुछ मामलों में ये स्किन के लिए समस्या पैदा कर सकते हैं।

कैसे रखें मास्क पहनने के दौरान स्किन को सुरक्षित – अगर मास्क पहनने से पहले त्वचा को अच्छी तरह मॉइश्चराइज किया जाए, तो स्किन समस्याओं से बचा जा सकता है। ऐसे में अगर आप देर तक फेस मास्क पहनते हैं तो अपने चेहरे पर पहले आयल बेस्ड मॉइश्चराइजर जरूर लगा लें। इससे स्किन की नमी लॉक हो जाती है और ऑयल के कारण स्किन पोर्स बंद हो जाते हैं जिससे सीबम का निर्माण कम होता है। इससे कम से कम पिंप्लस होने की संभावना होती है। इसके अलावा बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचने का तरीका यह भी है कि आप ज्यादा समय तक फेस मास्क पहनने के बजाय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अगर मजबूरी में आपको मास्क पहनना ही पड़ रहा है, तो आप 6 से 8 घंटे में अपना मास्क बदलते रहें और किसी साफ कॉटन के कपड़े से मुंह का पसीना साफ करते रहें।


ऐसे चुनें अपना मॉइश्चराइजर – त्वचा पर होने वाली खुजली से बचने के लिए आपको अच्छे मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करना चाहिए जिसमें सेरामाइड्स, स्क्वालीन, नियासिनामाइड या हायलुरोनिक एसिड जैसे तत्व मौजूद हों। ये तत्व बैक्टीरिया को पैदा होने से बचाते हैं। मास्क को रोजाना धोना और किसी साफ-सूखी जगह पर रखना न भूलें। मास्क पहनते वक्त नाक और चिन को खुला न छोड़ें। फेस मास्क पहनते समय जरूर ध्यान रखें ये बातें -कोरोना वायरस महामारी से लड़ाई में मास्क और हैंड सैनिटाइजर बहुत जरूरी है। दुनियाभर में मास्क पहनने को लेकर जरूरी एडवाइजरी जारी की गई है. एन-95 और सर्जिकल मास्क की कमी नजर आ रही है जिसके चलते लोग घर पर ही मास्क बना रहे हैं। मास्क पहनने के बाद ये सुनिश्चित करें कि वह नाक के ऊपर तक आए और ठुड्डी के नीचे तक कवर करें। मास्क के बैंड्स को इस तरीके से बांधे की कोई गैप न रहे। इसके अलावा बाहर से खरीदे हुए मास्क को पहनने से पहले अच्छी तरह से चेक कर लें कि उसमें कोई खराबी न हो जैसे कि वह फटा हुआ न हो, उसमें कोई छेद न हो।


मास्क पहनने से पहले और बाद में हाथों को हैंडवॉश या सैनिटाइजर से अच्छी तरह से धोएं। मास्क को रोजाना धोना और किसी साफ-सूखी जगह पर रखना न भूलें। मास्क पहनते वक्त नाक और चिन को खुला न छोड़ें। न ही मास्क उतारकर किसी से बात करें। अगर मुंह को अच्छे से कवर नहीं किया गया तो मास्क पहनने का कोई मतलब नहीं होता। मास्क को चिन के नीचे न रखें। कई लोग मास्क को बार बार नीचे करते हैं और फिर से मास्क लगा लेते हैं। ये बिल्कुल ठीक नहीं है। मास्क या फेसकवर बिल्कुल ढीला नहीं होना चाहिए। ध्यान रखें कि साइड में किसी तरह का कोई गैप न रहे। ठीक तरीके से मास्क पहने। हाथों को सैनिटाइजर या हैंडवॉश से बार-बार साफ करते रहें। घर में रहें और सुरक्षित रहें।

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.