मुख्यमंत्री धामी ने किया क्षतिग्रस्त गौला पुल का देर सायं स्थलीय निरीक्षण, कहा-जल्द होगा पुल की मरम्मत का कार्य शुरू

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिह धामी ने आपदा मे क्षतिग्रस्त गौला पुल का देर सांय स्थलीय निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि मौसम साफ होते ही जल्द पुल की मरम्मत का कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा। उन्होने कहा आपदा प्रभावितो को सरकार हर सम्भव मदद करेगी।

आपदा में मृतक परिजनों को दी जायेंगी 4 लाख की राहत: सीएम
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा आपदा में मृतक परिजनों को 4 लाख की राहत धनराशि दी जायेगी, साथ ही भवन क्षति पशु क्षति आदि पर भी मानकों के अनुरूप शीघ्र सहायता राशि दी जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य सरकार को हर मदद का भरोसा दिलाया है। उन्होनेे कहा वायु सेना के हैलीकाप्टर भी रैस्क्यू के लिए भेज दिये है। जो पर्यटक मार्ग अवरूद्व होने से रास्तों मे फंसे है उन्हे तुरन्त सुरक्षित स्थानों पर पहुचाया जा रहा है। उन्होने कहा कि आपदा की घडी में सभी संयम बरतें कुछ ही समय में परिस्थितियां मे सुधार लाया जायेगा।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में आक्रोशित कांग्रेसियों ने फूंका सीएम का पुतला

सीएम ने ली सर्किट हाउस में आपदा स्थिति की विस्तृत जानकारियां, कहा-अधिकारी राहत-बचाव कार्य करें युद्ध स्तर पर
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्किट हाउस मे मण्डल मेें आपदा स्थिति की विस्तृत जानकारियां उच्च अधिकारियों से ली। उन्होने निर्देश दिये कि मृतकों का पोस्टमार्टम वही पर करें तथा मृतक आश्रितों को तत्काल मुआवजा दिया जाए। इसके लिए जिलाधिकारी को धनराशि उपलब्ध करा दी है। उन्होने कहा आपदा राहत बचाव हेतु हैलीकाप्टर की जरूरत हो तो तुरन्त लगाये जांए। उन्होने कहा अधिकारी राहत- बचाव कार्य युद्व स्तर पर करें, घर का काम समझ कर करें, सभी जनता व जनप्रतिनिधियों एवं स्वयं सेवकों का भी सहयोग भी लिया जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि पहाडी क्षेत्र कुमाऊ का आपदा कन्ट्रोल रूम हल्द्वानी मे बनाया जाए तथा उधमसिह नगर का कन्ट्रोल रूम उधमसिह नगर में बनाया जाए। दोनों कन्ट्रोल रूम चौबीस घंटे संचालित किये जांए तथा इनमे कर्मचारियों के साथ ही नोडल अधिकारी तैनात किये जांए।

यह भी पढ़ें -   बातें कम-काम ज्यादा गीत यू-ट्यूब पर लॉंन्च, सीएम धामी की कार्यशैली व सकारात्मक सोच पर आधिरित है यह गीत

अधिक से अधिक जेसीबी, पोकलैण्ड मशीनें लगाकर करें सड़कें सुचारू: धामी
मुख्यमंत्री पुष्कर ंिसंह धामी ने कहा कि सडकें टूटने व मलूवा आने से सड़कें अवरूद्व हैं जिससे क्षेत्रीय जनता व पर्यटक मार्गों मे फंसे है। उन्होंने बन्द सडक मार्ग खोलने हेतु आज से ही अधिक से अधिक जेसीबी, पोकलैण्ड मशीनें लगाकर सडकें सुचारू करने के निर्देश देते हुये फंसे पर्यटकों व जनता को निकालने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि आपदा क्षेत्रों में राशन की कतई कमी ना हो तथा मार्गाे व आपदा बाढ़ क्षेत्रों मे पकापकाया भोजन व्यवस्था के साथ ही पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, धन की कोई कमी नही है। उन्होने आपदा दौरान ध्वस्त विद्युत, पेयजल लाइनें भी शीघ्र मरम्मत कर सुचारू करने के निर्देश दिये ताकि जनता को अनावश्यक परेशानियों का सामना ना करना पडे।

आपदा में क्षतिग्रस्त नुकसान का शीघ्र करें आंकलन: मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आपदा में क्षतिग्रस्त नुकसान का शीघ्र आंकलन करें तथा आपदा मे ध्वस्त कार्याे को तुरन्त प्रारम्भ करें साथ ही उन्होेने कहा कि आपदा कार्याे हेतु क्वारी भी तुरन्त स्वीकृत की जाए। आयुक्त सुशील कुमार व डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे ने बताया कि आपदा राहत बचाव हेतु आपदा क्षेत्रों मे राजस्व, पुलिस के साथ ही एडीआरएफ, एनडीआरएफ व सेना भी लगाई गई है। आयुक्त ने बताया कि नैनीताल शहर जाने हेतु सभी सड़कें बन्द हो गई थी। नैनीताल-कालाढूगी सड़क मार्ग खोल दिया गया है। जबकि हल्द्वानी-ज्योलीकोटी-नैनीताल, नैनीताल-भवाली सडक मार्ग देर रात तक खोल दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री धामी ने सड़क मार्ग खोलने में लगे जेसीबी चालक से फोन पर वार्ता भी की।

यह भी पढ़ें -   राज्य आंदोलनकारियों की पेंशन 15000 रूपए प्रति माह की जाए : धीरेंद्र प्रताप

बैठक में कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, धनसिह रावत, विधायक नवीन दुम्का, महापौर डा0 जोगेन्द्र सिह रौतेला, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, प्रदेश प्रवक्ता प्रकाश रावत, उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग मजहर नईम नवाब, अनिल कपूर डब्बू, प्रकाश हर्बाेला, शंकर कोरंगा, चन्दन बिष्ट सहित डीजीपी अशोक कुमार, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी मौजूद थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *