giraftaar

एसओजी ने किया दो नशा तस्करों को गिरफ्तार, कब्जे से 290 अलग-अलग ब्रांड के नशीले इंजेक्शन बरामद

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht
खबर शेयर करें

समाचार सच, ऋषिकेश। एसओजी देहात की टीम ने दो नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 290 अलग-अलग ब्रांड के नशीले इंजेक्शन बरामद किए गए हैं। हरिद्वार से यह नशा लाकर यह लोग ऋषिकेश और आसपास क्षेत्र में सप्लाई करते थे। गिरफ्तार एक आरोपित ने डी फार्मा किया हुआ है। वह ज्वालापुर हरिद्वार की एक क्लीनिक में काम करता है। इस कारण उसे इस तरह की दवाइयों का बेहतर ज्ञान था, जिसका वह दुरुपयोग नशा तस्करी में कर रहा था। एसओजी देहात ऋषिकेश की टीम ने ऋषिकेश में नशे के विरुद्ध निरोधात्मक कार्यवाही के अंतर्गत, बिना नंबर की एक्टिवा स्कूटी में दो आरोपित को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अलग-अलग प्रकार के 290 इंजेक्शन बरामद किए हैं। पुलिस अधीक्षक देहात कमलेश उपाध्याय के मुताबिक एसओजी देहात की टीम की ओर से लगातार ऐसे व्यक्तियों की निगरानी कर चेकिंग की जा रही थी जो अवैध रूप से नशे के कारोबार में संलिप्त हैं। इस पर बीती देर शाम चेकिंग के दौरान हरिद्वार रोड राजकीय महाविद्यालय परिसर के सामने भरत विहार स्थित खाली ग्राउंड के पास से बिना नंबर की स्कूटी में दो व्यक्तियों को रोककर चेक किया तो उनके पास भारी मात्रा में दो अलग-अलग ब्रांड के नशीले कुल 290 इंजेक्शन बरामद हुए।

मौके पर औषधि निरीक्षक अनीता भारती को मौके पर बुलाकर उपरोक्त बरामद दवाइयां चौक करवाई गई, जिनके द्वारा बरामद दवाइयों को चेक कर बताया गया कि उक्त दवाइयां पूर्णता प्रतिबंधित है एवं एनडीपीएस के अंतर्गत अपराध की श्रेणी में आती है। एसओजी की टीम ने मौके से कासिब पुत्र एहसान अली निवासी बकरा मार्केट ज्वालापुर हरिद्वार और रिजवान पुत्र रियाज निवासी बकरा मार्केट ज्वालापुर हरिद्वार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक पूछताछ में आरोपित कासिब ने बताया कि उसने डी फार्मा किया हुआ है और वर्तमान समय में ज्वालापुर स्थित एक क्लीनिक में कार्य करता है। इस कारण मुझे नशीली दवाइयों की अच्छी जानकारी है। यह माल हमें ज्वालापुर के समीर राव निवासी धीरवाली, रामलीला ग्राउंड ज्वालापुर हरिद्वार ने दिया था। उसका पहले बकरा मार्केट में अपना मेडिकल स्टोर भी था। यह माल हम स्कूल कालेजों और राफ्टिंग एरिया आदि में बेचते हैं। क्योंकि ऋषिकेश मध-निषेध क्षेत्र है। इसलिए यहां पर हमारा माल दोगुनी दोगुनी कीमत में बिक जाता है। एसओजी देहात टीम में प्रभारी ओमकांत भूषण, आरक्षी कमल जोशी, नवनीत नेगी, मनोज कुमार, सोनी कुमार, जमुना शामिल रहे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.