हवन यज्ञ और भंडारे के साथ श्रीमद्भागवत कथा का समापन

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी/काठगोदाम। श्रीकालूगिरी धमार्थ समिति के तत्वावधान में श्री हनुमानगढ़ी मंदिर काठगोदाम में चल रही भागवत कथा रविवार को संपन्न हो गई। कथा समापन पर हवन यज्ञ और भंडारे का आयोजन किया गया। भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने पहले हवन यज्ञ में आहुति डाली और फिर प्रसाद ग्रहण कर पुण्य कमाया।

Ad

इस दौरान व्यास कपिल महाराज ने 7 दिन तक चली कथा में भक्तों को श्रीमद भागवत कथा की महिमा बताई। उन्होंने लोगों से भक्ति मार्ग से जुड़ने और सत्कर्म करने को कहा। उन्होंने कहा कि हवन-यज्ञ से वातावरण एवं वायुमंडल शुद्ध होने के साथ-साथ व्यक्ति को आत्मिक बल मिलता है। यज्ञ से देवता प्रसन्न होकर मनवांछित फल प्रदान करते हैं। उन्होंने बताया कि भागवत कथा के श्रवण से व्यक्ति भवसागर से पार हो जाता है। कथावाचक ने भंडारे के प्रसाद का भी वर्णन किया।

यह भी पढ़ें -   जिला निर्वाचन अधिकारी ने पत्रकार वार्ता में दी नैनीताल जिले में विस चुनाव सम्पन्न कराने संबंधित जानकारियां, जानने को करें क्लिक

इस दौरान यहां पहुंचे बरेली अलख नाथ मंदिर प्रबन्ध समिति तथा श्री कालू सिद्ध मंदिर धमार्थ समिति के अध्यक्ष/मठाधीश श्री महन्त कालूगिरी महाराज जी के दर्शन हेतु भारी संख्या में भक्तजन पहुंचे थे। कालूगिरी महाराज ने भक्त-श्रद्धालुओं को अपना आशीर्वाद देते हुए कहा कि भगवान हर किसी के करीब रहते है और उन्हें माने के लिए कोमल हृदय की जरूरत होती है। जो भी व्यक्ति कोमल मन से भगवान को याद करता है भगवान उसे अपने दर्शन देते है। इसलिए पूजा करते समय अपना मन मात्र भगवान की तरफ ही लगाना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   रेस्टोरेंट में शराब पिलाने पर रेस्टोरेंट मालिक गिरफ्तार

कथा समापन के दिन विधि विधान से पूजा करवाई। दोपहर तक हवन और भंडारा कराया गया। इसमें यजमानों ने अपने अपने परिवार के साथ आहुति डाली। शहर से आए श्रद्धालुओं ने भी हवन में आहुति डाली। पूजन के बाद दोपहर को भंडारा लगाकर प्रसाद बांटा गया। इस अवसर पर मंदिर के व्यवस्थापक महन्त शम्भू गिरी ने सभी भक्तजनों को आभार व्यक्त किया। इस मौके पर भारी संख्या में साधू-संत व भक्तजन मौजूद रहे।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *