यूरिक एसिड कंट्रोल करने तथा जोड़ों के दर्द में राहत देने में यह फल है मददगार…

खबर शेयर करें

समाचार सच, (स्वास्थ्य डेस्क)। मौसम के अनुरूप लोगों को अपने खानपान में भी बदलाव करना चाहिए। इससे सेहत बेहतर रहती है और शरीर के सभी अंग सुरक्षित रहते हैं। आज के समय में गलत तरीके से बैठने, खानपान में लापरवाही और वर्क फ्रॉम होम के बीच कमर में दर्द और जोड़ों के दर्द से परेशान होते हैं। जोड़ों में दर्द यानी जॉइंट पेन यूरिक एसिड के बढ़ने के कारण भी होने लगता है। शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने की समस्या आज के समय में आम हो गई है। शरीर के जोड़ों और टिश्यूज में यूरिक एसिड जमा होने से कई लोग गाउट नामक बीमारी से पीड़ित हो जाते हैं, इस वजह से ही मरीजों को जोड़ों में दर्द होने लगता है।

जानते हैं कि गर्मियों में किन फलों के सेवन से यूरिक एसिड कंट्रोल होता है –
संतरा: इस मौसमी फल में प्रचुर मात्रा में सिट्रिक एसिड पाया जाता है जो बॉडी में मौजूद यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने में मददगार है। विटामिन सी युक्त संतरे में डिटॉक्सिफाइंग एलिमेंट होता है, ये शरीर में पाए जाने वाले विषैले तत्वों को बाहर निकालने में कारगर साबित होते हैं।
केला: केला को पोटैशियम का एक बेहतरीन स्रोत माना जाता है जो यूरिक एसिड के मरीजों के लिए लाभकारी साबित हो सकता है। बता दें कि ये पोषक तत्व यूरिन के जरिये यूरिक एसिड को शरीर से बाहर निकालने में मददगार होता है। इतना ही नहीं, केला यूरिक एसिड को क्रिस्टलाइज करने से रोकता है ऐसे में जोड़ों के दर्द की परेशानी कम हो जाती है। यही कारण है कि डॉक्टर्स गठिया के मरीजों को भी केला खाने की सलाह देते हैं।

यह भी पढ़ें -   ‘स्वीट पोटैटो’ के नाम से जाना जाने वाला ताकत और पोषण का खजाना है ‘शकरकंद’

गाजर: विटामिन ए और एंटी-ऑक्सीडेंट्स का बेहतरीन स्रोत गाजर यूरिक एसिड पर नियंत्रण रखने में मदद करता है। शरीर को फ्री रेडिकल्स से लड़ने की ताकत प्रदान करता है गाजर। यही नहीं, गाजर का सेवन करने से जोडों के दर्द और सूजन को कम करने में भी मदद मिलती है। आप इसे सलाद, सब्जी या सूप के रूप में पी सकते हैं।
आम: फलों का राजा आम गर्मियों में मिलने वाला फल है। आम में एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो यूरिक एसिड के मरीजों को दर्द से राहत दिलाते हैं। बता दें कि मोटापा यूरिक एसिड बढ़ने के प्रमुख कारणों में से एक है। आम खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें -   मिट्टी के बर्तन में खाना बनाने से आपको क्या-क्या फायदे होते हैं, आस-पास भी नहीं फटेगी बीमारियां

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.