oil pulling

क्या है ऑयल पुलिंग, साथ ही ये शरीर की किन दिक्कतों को दूर करने में मददगार है ये

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। कभी खान-पान में गड़बड़ी, कभी स्वच्छता की कमी तो कभी किसी और वजह से शरीर में कई तरह की दिक्कतें हो जाती हैं। जिनको दूर करने के लिए वैसे तो बाजार में कई तरह की दवाएं और प्रोडक्ट्स मौजूद हैं। लेकिन इनके साइड इफेक्ट्स का खतरा हमेशा बना रहता है। इसलिए शरीर की दिक्कतों को दूर करने के लिए अगर आप प्राकर्तिक और हर्बल तरीकों की मदद लेते हैं, तो ये आपके लिए बेहतर हो सकता है। ऐसा ही एक प्राकृतिक और हर्बल तरीका है ऑयल पुलिंग जिसकी मदद आप अपने शरीर की दिक्कतों को दूर करने के लिए ले सकते हैं। आइये जानते हैं क्या है ऑयल पुलिंग और क्या है इसको करने का तरीका। साथ ही जानते हैं कि ये शरीर की किन दिक्कतों को दूर करने में मदद करता है।

क्या है ऑयल पुलिंग
ऑय
ल पुलिंग आयुर्वेदिक इलाज का वर्षों पुराना तरीका है। इसके ज़रिये विभिन्न तेलों का इस्तेमाल कर के शरीर के कई हिस्सों से सम्बंधित दिक्कतों का इलाज किया जाता है। ऑयल पुलिंग में तिल का तेल, सूरजमुखी का तेल या नारियल का तेल इस्तेमाल किया जाता है। इन तेलों में से किसी एक तेल को मुंह में भरकर हल्का सा ज़ोर लगाते हुए मुंह के अंदर ही तेल को चारों ओर घुमाया जाता है, फिर कुछ देर बाद कुल्ला करके ब्रश कर कर लिया जाता है।

यह भी पढ़ें -   आत्मनिर्भर उत्तराखंड के लिए कल से 4 दिन मसूरी में होगा धामी सरकार का चिंतन शिविर

ऑयल पुलिंग करने का तरीका
ऑयल पुलिंग करने के लिए आप तिल के तेल, सूरजमुखी के तेल या नारियल के तेल में से किसी एक तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसको करने के लिए आप सुबह नाश्ते से लगभग बीस-पच्चीस मिनट पहले पालथी लगाकर बैठ जाएं और अपने चेहरे को हल्का सा ऊपर की ओर उठाकर एक बड़ा चम्मच तेल अपने मुंह में रखें। इसके बाद मुंह को बंद कर लें और हल्का सा जोर लगाकर तेल को अच्छी तरह से करीब पांच-सात मिनट तक मुंह के अंदर चारों ओर घुमाएं। इस दौरान इस बात का भी ख्याल रखें कि तेल को बिल्कुल भी निगलना नहीं है। इसके बाद तेल को थूक कर गर्म पानी या फिर सादे पानी से अच्छी तरह से कुल्ला कर लें, फिर किसी भी टूथपेस्ट से ब्रश कर लें।

यह भी पढ़ें -   घर में शिवलिंग से संबन्धित इन नियमों का ध्यान रखा जाए, रखने से पहले जान लें नियम

ऑयल पुलिंग करने के फायदे –

  • मुंह की दुर्गंध दूर होती है।
  • कैविटी की समस्या से निजात मिलती है।
  • मसूड़ों की सूजन दूर होती है और मसूड़े स्वस्थ रहते हैं।
  • दांत दर्द में काफी राहत मिलती है।
  • मुंह सूखने की दिक्कत खत्म होती है।
  • सिरदर्द से भी राहत मिलती है।
  • शरीर में एनर्जी बढ़ती है।
  • स्किन मॉइश्चराइज़ होती है और मुंहासों से निजात मिलती है।
  • त्वचा में कसाव और चमक बढ़ती है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.