जब रूक जाती है धन की बरकत तो समझ जाइए खत्म हो रसोई में ये चीज़ें

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। घर खासकर रसोई की अधिकतर चीज़ों का संबंध वास्तु शास्त्र एवं ज्योतिष शास्त्र से होता है। यदि घर और रसोई में वास्तु सम्बंधित नियमों का पालन किया जाए तो घर में दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता है और सुख शांति बनी रहती है। रसोई घर की कई चीज़ों को परिवार की समृद्धि से जोड़कर देखा जाता है। ऐसे में इन चीज़ों की घर में कमी होने से आर्थिक समृद्धि और सुख में भी कमी होने लगती है। चलिए जानते हैं कि रसोई की कौन सी ऐसी चीज़ें हैं जिनको कभी खत्म नहीं होने देना चाहिए।

नमक
नमक हमारे खाने में ही नहीं बल्कि हमारे जीवन में भी स्वाद बिखेरता है। इसका गहरा संबंध वास्तु से भी होता है। नमक राहू से संबंधित होता है और रसोई में इसे पूरी तरह से कमी होने पर राहू संबंधी दोषों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इसे कभी खत्म न होने दें। कभी किसी और के घर से नमक ना लें। हमेशा घर में नमक की आपूर्ति बनी रहनी चाहिए।

यह भी पढ़ें -   पत्थरचट्टा एक आयुर्वेदिक जड़ी - बूटी है जिसमें कई प्रकार के स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं

आटा
आटा हमारे रोज़मर्रा के खाने का अभिन्न हिस्सा होता है। और आमतौर पर यह हमेशा उपलब्ध होता ही है। बहुत ही कम ऐसे मौके आते हैं जब घर में आटा खत्म हो जाए। लेकिन अक्सर हमारी यह आदत होती है कि डिब्बे का पूरा आटा खत्म करके, उसे झाड़कर फिर नया आटा भरते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा नहीं करना चाहिए। आटे के बर्तन को कभी भी पूरा खली नहीं करना चाहिए, इससे परिवार में धन की हानि और अन्य दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

चावल
आटे की तरह चावल भी हमारे खाने का प्रमुख भाग होता है। चावल का संबंध शुक्र ग्रह और सुख समृद्धि से होता है। रसोई में चावल की कमी ना होने देने से शुक्र ग्रह के दोष समाप्त होते हैं घर में बरकत बनी रहती हैं। चावल के समाप्त होने से पहले ही डिब्बे में नया चावल लाकर भर दें।

यह भी पढ़ें -   शनि ग्रह को इन उपायों से करें मजबूत, रंक से राजा बनाने का है गुण

हल्दी
हल्दी तो वैसे ही बड़ी शुभ मानी जाती है। साथ ही इसका संबंध गुरु से होता है। गुरु कृपा से बड़े-बड़े कष्ट और संकट दूर हो जाते हैं। इसलिए रसोई में कभी भी हल्दी को पूरी तरह से खत्म नहीं होने देना चाहिए। इससे आर्थिक तंगी, विवाह में बढ़ाएं और शिक्षा में रुकावटें जैसी सस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

सरसों का तेल
अधिकतर परिवारों में सरसों के तेल का इस्तेमाल खाना बनाने में होता है। सरसों के तेल का संबंध शनि से होता है। यदि घर में यह तेल समाप्त होता है तब शनि दोष शुरू होने की संभावना होती है जिससे परिवार में परेशानियां आ सकती है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.