सुबह खाली पेट तुलसी का पत्ता खाने के फायदे

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। भारतीय संस्कृति में तुलसी को बहुत पवित्र माना गया है। इसका उपयोग आमतौर पर चाय को सुगंधित बनाने के लिए किया जाता है। हालांकि, इसका उपयोग कई बीमारियों में घरेलू उपचार के तौर पर भी किया जाता है। आपके स्वास्थ्य के लिए इसके अनगिनत फायदे हैं। तुलसी को केवल उपचार ही नहीं बल्कि यह पारंपरिक भारतीय चिकित्सा पद्धति का अभिन्न हिस्सा रही है। तुली के पत्तों में विटामिन ए, विटामिन डी, आयरन और फाइबर होते हैं।

Ad

सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते खाने से शरीर को कई तरह के फायदे मिलते हैं। तुलसी के पत्ते पाचन को सही रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ऐसिडिटी और पेट में जलन की परेशानी को भी यह दूर रखता है। बॉडी के पीएच लेवल को मेनटेन करने में भी तुलसी मददगार साबित होती है।
सुबह खाली पेट तुलसी का पत्ता खाने के फायदे –

यह भी पढ़ें -   ऑमिक्रॉन से लड़ने की ताकत देंगे ये सुपरफूड, सर्दी में बढ़ाएंगे इम्यूनिटी

स्ट्रेस कंट्रोल में रहता है
सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन करने से स्ट्रेस कंट्रोल में रहता है। इसमें अडैप्टोजेन पाए जाते हैं जो स्ट्रेस के साथ नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करते हुए ब्लड फ्लो को सुधारता है। इसके साथ ही पत्तों से सिरदर्द में भी राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें -   ऑमिक्रॉन से लड़ने की ताकत देंगे ये सुपरफूड, सर्दी में बढ़ाएंगे इम्यूनिटी

पाचन क्रिया
पाचन क्रिया को सही रखने के लिए सुबह खाली पेट तलसी के पत्ते खाएं। साथ ही एसेडिटी और पेट में जलन की परेशानी को भी यह दूर रखता है। बॉडी के पीएच लेवल को मेनटेन करने में भी काफी मददगार साबित होती है।

ब्लड शुगर कंट्रोल
ब्लड शुगर कंट्रोल में रखना है तो तुलसी के पत्ते खाली पेट खाना शुरू कर दें।

सर्दी खांसी
सर्दी खांसी के लिए तुलसी में ऐंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं। सुबह खाली पेट तुलसी का एक पत्ता खाएं, इससे कुछ ही दिनों में आपको सर्दीखांसी से राहत मिल जाएगी।

यह भी पढ़ें -   ऑमिक्रॉन से लड़ने की ताकत देंगे ये सुपरफूड, सर्दी में बढ़ाएंगे इम्यूनिटी

इम्यूनिटी बूस्टर
यह एंटीऑक्सिडेंट में भरपूर होता है और इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। जिसकी वजह से शरीर को विभिन्न संक्रमणों से बचाता है और हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस से लड़ता है। इसे इम्यूनिटी बूस्टर भी कहा जाता है, इसके सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है।

सांस की समस्या
सांस की ससस्यों में तुलसी काफी उपयोगी है। शहद अदरक और तुलसी को मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से ब्रोंकाइटिस, दमा, कफ और सर्दी में राहत मिलती है। इसके साथ ही तुलसी के पत्ते से सांस की बदबू की परेशानी भी दूर होती है।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *