Naksir

गर्मियों में अगर आपकी नाक से भी बहने लगता है खून तो तुरंत आजमाएं ये उपाय

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। गर्मियों के मौसम में नाक से खून आना बेहद ही आम समस्या है। नाक से खून आने की इस समस्या को आमबोल चाल की भाषा में नकसीर कहा जाता है। नकसीर कोई गंभीर समस्या नहीं है और इसका इलाज आप घर बैठे-बैठे कर सकते हैं। आईये जानते हैं नकसीर की समस्या से निजात पाने के कुछ घरेलू उपाय।

गर्मियों के मौसम में नाक से खून आना बेहद ही आम समस्या है। नाक से खून आने की इस समस्या को आमबोल चाल की भाषा में नकसीर कहा जाता है। बच्चे से लेकर बुजुर्ग किसी को भी यह समस्या कभी भी हो सकती है। दरअसल, नाक में छोटी-छोटी रक्त वाहिकाएं मौजूद होती है और जब यह किसी वजह से सिकुड़ने लगती हैं तब नाक से खून निकलने की समस्या होती है। नकसीर कोई गंभीर समस्या नहीं है और इसका इलाज आप घर बैठे-बैठे कर सकते हैं। आईये जानते हैं नकसीर की समस्घ्या से निजात पाने के कुछ घरेलू उपाय।

प्याज से मिलेगी राहत
अगर आपको नाक से खून बहने की समस्या होती है तो इससे तुरंत राहत पाने के लिए आप प्याज का इस्तेमाल कर सकते हैं। नकसीर की समस्या होने पर आप नाक में प्याज का रस डाल सकते हैं या फिर आप प्याज का एक टुकड़ा लेकर उसे सूघ सकते हैं। ऐसा करने से कुछ देर में आपके नाक से खून आना बंद हो जाएगा। गर्मियों में आप रोजाना प्याज का सेवन करते रहेंगे तो आपको यह समस्या नहीं होगी।

नमक के पानी से मिलेगी राहत
गर्मियों के मौसम में नाक की झिल्ली में नमी खत्म हो जाती है जिसकी वजह से वह सुख जाती है। इसकी वजह से नकसीर की समस्या होती है। ऐसे में आप नमक के पानी का उपाय करके इस समस्या से बच सकते हैं। इसके लिए आधा कप पानी में चुटकी भर नमक डालकर इसकी कुछ बूंदें नाक में डालें। ऐसा करने से नाक की झिल्ली को नमी मिलेगी और नाक से खून बहना बंद हो जाएगा।

यह भी पढ़ें -   नाबालिग छः महीने की गर्भवती निकली, पड़ोसी किशोर ने किया था दुष्कर्म

धनिये से मिलेगी राहत
नकसीर को रोकने के लिए धनिये की पत्तियाँ फायदेमंद साबित हो सकती हैं। धनिया ठंडा होता है इसलिए नकसीर से राहत पाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। नाक से बहते खून को रोकने के लिए आप धनिये की पत्तियों का पेस्ट बनाए और फिर लेटकर इसे अपने माथे पर लगा लें। थोड़ी देर में आपको नकसीर से राहत मिल जाएगी।

बर्फ की सिकाई से मिलेगी राहत
ज्यादा गर्मी की वजह से भी नाक से खून बहने लगता है। ऐसे में ठंडी चीजों का इस्तेमाल करके आप इसे रोक सकते हैं। इसलिए जब आपकी नाक से अचानक खून बहने लगे तो तुरंत एक कपड़े में बर्फ के टुकड़े लेकर नाक के ऊपर हल्के हाथ से ठंडी सिकाई करें। कुछ देर में आपकी नाक से खून बहना बंद हो जाएगा।

नकसीर या नाक से खून बहने पर करें यह घरेलू उपाय
चिलचिलाती धूप और गर्मी मे कुछ लोगों को नाक से खून बहने की शिकायत होती है। नाक से खून आने को नकसीर कहते हैं। गर्मी में अकसर नकसीर की परेशानी होती है। कुछ लोगों को गर्म चीजे खाने से भी नकसीर आती है। बार-बार नाक से खून आना या नकसीर बहना ठीक नहीं होता।

यह भी पढ़ें -   आहवान सेवा समिति के समर कैंप में बच्चें सीख रहे हैं योगा, क्राफ्टिंग, पेंटिंग व जुंबा, डांस व फिल्म एक्टिंग के गुर, 25 तक चलेगा कैंप

नाक से खून या नकसीर रोकने के घरेलू उपाय……

  • ठंडा पानी सिर पर धार बनाकर डालने से नाक से खून बहना बंद हो जाता है।
  • नकसीर आने पर नाक की बजाय मुंह से सांस लेना चाहिए।
  • प्याज को काटकर नाक के पास रखने और सूंघने से नाक से खून आना बंद हो जाता है।
  • नाक से बहने पर सिर को आगे की ओर झुकाना चाहिए.
  • सुहागे को पानी में घोलकर नथुनों पर लगाने से नकसीर बंद हो जाती है।
  • बेल के पत्तों का रस पानी में मिलाकर पीने से फायदा होता है।
  • गर्मियों के मौसम में सेब के मुरब्बे में इलायची डालकर खाने में नकसीर बंद हो जाती है।
  • बेल के पत्तों को पानी में पकाकर उसमें मिश्री या बताशा मिलाकर पीने से नकसीर बंद हो जाती है।
  • ज्यादा तेज धूप में घूमने की वजह से नाक से खून बह रहा हो तो सिर पर ठंडा पानी डालने से नाक से खून बहना बंद हो जाता है।
  • नकसीर आने पर कपड़े में बर्फ लपेटकर रोगी की नाक पर रखने से भी नकसीर रूक जाती है।
  • एक बड़ा चम्मच मुलतानी मिट्टी रात को आधा लीटर पानी में भिगोकर रख दें. सुबह को उस पानी को निथारकर पीने से नाक से खून आने की परेशानी से फायदा मिलेगा।
  • लगभग 15-20 ग्राम गुलकंद को सुबह-शाम दूध के साथ खाने से नकसीर का पुराने से पुराना मर्ज भी ठीक हो जाता है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.