stone kedney

जानिए क्या हैं किडनी स्टोन को निकालने के नेचुरल उपाय

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। आमतौर पर, किडनी स्टोन होने पर लोग दवाइयों का सहारा लेते हैं या फिर इन्हें शरीर के बाहर निकालने के लिए कभी-कभी ऑपरेशन भी करवाना पड़ता है। हालांकि, गुर्दे की पथरी का प्रारंभिक अवस्था में आसानी से निदान किया जा सकता है।

किडनी शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है, जो शरीर की कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है। गुर्दे हमारे शरीर से अपशिष्ट, अशुद्धियों को निकालने के लिए रक्त को फिल्टर करते हैं और इलेक्ट्रोलाइट्स के सही स्तर को बनाए रखते हैं। वे यूरिनरी ट्रैक्ट के माध्यम से हमारे मूत्राशय में विषाक्त पदार्थों और अपशिष्टों को उत्सर्जित करते हैं। लेकिन अगर किसी कारणवश हमारा शरीर ऐसा करने में असमर्थ होता है, तो इससे किडनी में स्टोन्स बनने लग जाते हैं।
इसे भी पढ़ेंरू पुदीने की पत्तियों से इन समस्याओं को करें दूर

आमतौर पर, किडनी स्टोन होने पर लोग दवाइयों का सहारा लेते हैं या फिर इन्हें शरीर के बाहर निकालने के लिए कभी-कभी ऑपरेशन भी करवाना पड़ता है। हालांकि, गुर्दे की पथरी का प्रारंभिक अवस्था में आसानी से निदान किया जा सकता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही आसान तरीकों के बारे में बता रहे हैं-

यह भी पढ़ें -   इसका नियमित सेवन करते रहें इसमें पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन और मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होती है

पीएं अधिक पानी
स्टोन पास करते समय, आपको अपने पानी का सेवन बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए। सामान्य 8 के बजाय प्रतिदिन 12 गिलास पानी के लिए प्रयास करें। एक बार पथरी निकल जाने के बाद, आपको हर दिन 8 से 12 गिलास पानी पीना जारी रखना चाहिए। निर्जलीकरण गुर्दे की पथरी के मुख्य जोखिम कारकों में से एक है। ऐसे में पानी की मात्रा पर अतिरिक्त ध्यान देने से आपको मदद मिल सकती हैं। इसके लिए आप अपने पेशाब के रंग पर ध्यान दें। यह बहुत हल्का, हल्का पीला होना चाहिए। गहरा पीला मूत्र निर्जलीकरण का संकेत है।

नींबू का रस
किडनी स्टोन की समस्या होने पर नींबू के रस का सेवन भी आपके लिए लाभदायक साबित होगा। नींबू में साइट्रेट होता है, जो एक ऐसा रसायन है जो कैल्शियम स्टोन को बनने से रोकता है। साथ ही, साइट्रेट छोटे पत्थरों को भी तोड़ सकता है, जिससे वे अधिक आसानी से गुजर सकते हैं। हालांकि, एक अच्छे प्रभाव के लिए बहुत सारे नींबू की आवश्यकता होगी, लेकिन कुछ थोड़ी मदद कर सकते हैं। नींबू के रस के और भी कई स्वास्थ्य लाभ हैं। उदाहरण के लिए, यह बैक्टीरिया के विकास को रोकने में मदद करता है और विटामिन सी प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें -   शनिवार को जन्मे लोग बहुत आलसी होते हैं

सेब का सिरका
सेब के सिरके में एसिटिक एसिड होता है। एसिटिक एसिड गुर्दे की पथरी को घोलने में मदद करता है। गुर्दे को बाहर निकालने के अलावा, सेब का सिरका पत्थरों के कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसके लिए आप एक चम्मच सेब का सिरका एक गिलास पानी में डालकर पीएं। हालांकि, यह ध्यान रखें कि अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है, तो सेब साइडर सिरका पोटेशियम और ऑस्टियोपोरोसिस के निम्न स्तर का कारण बन सकता है।

अनार का रस
अनार का रस किडनी के लिए काफी अच्छा माना जाता है। यह आपके सिस्टम से पथरी और अन्य विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देगा। यह एंटीऑक्सिडेंट से भरा हुआ है, जो किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करता है और गुर्दे की पथरी को विकसित होने से रोकने में इसकी भूमिका हो सकती है। यह आपके यूरिन के एसिडिटी लेवल को भी कम करता है। साथ ही, भविष्य में गुर्दे की पथरी के लिए आपके जोखिम को कम करता है। (साभार: मिताली जैन)

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.