pulam

आइए जानते हैं गर्मियों में आलू बुखारे के सेवन करने के हैरतगंज फायदे

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आलू बुखारा वास्तव में खुबानी, आड़ू के परिवार से ही आते हैं, लेकिन इनमें सिर्फ ये ही एक समानता है। आलू बुखारा अपने परिवार के पेड़ के किसी भी अन्य पत्थर-फलों की तुलना में बहुत अधिक विविधता प्रदान करते हैं। जब आकार और रंग की बात आती है, तो प्लम बैंगनी, पीले, नारंगी और लाल हो सकते हैं और बड़े या छोटे हो सकते हैं। हजारों साल पहले, प्लम सबसे पहले चीन में उगाए गए थे। वहां से, उन्हें अंततः जापान, अमेरिका और यूरोप के कुछ क्षेत्रों में लाया गया। इसके बाद से लेकर आज तक दुनिया भर में आलू बुखारा की 2,000 से अधिक किस्में उगाई जाती हैं। यहां हम आपके लिए लेकर आए हैं गर्मियों में आलू बुखारा का सेवन करने के फायदे…

हार्ट हेल्थ में सुधार करता है
एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर, आलू बुखारा आपके दिल के स्वास्थ्य में सुधार और रखरखाव करता है। एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों से लड़ता है, हृदय रोगों को रोकता है और स्ट्रोक के खतरे को दूर करता है। एंटीऑक्सिडेंट कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को रोकते हैं और हार्ट हेल्थ को बनाए रखने में मदद करते हैं।

यह भी पढ़ें -   राज्यपाल ने किया राजभवन के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ योगाभ्यास व प्राणायाम

कब्ज से राहत
आलूबुखारा में आइसोटिन और सोर्बिटोल होता है, जो कब्ज को दूर करने और पाचन में सुधार करने में मदद करता है। यह आंत को भी स्वस्थ रखता है। कब्ज और अन्य पाचन संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए आप आलूबुखारा या सूखे आलूबुखारे का सेवन कर सकते हैं, जिन्हें प्रून कहा जाता है।

कैंसर से बचाता है
प्लम्स की त्वचा का लाल नीला रंग पिगमेंट, एंथोसायनिन के कारण होता है, जो मुक्त कणों से भी लड़ता है। प्लम्स ब्रेस्ट कैंसर, कैविटी और मुंह के कैंसर से भी बचाता है।

ब्लड सर्कुलेशन
आलूबुखारा आयरन को अवशोषित करने की शरीर की क्षमता में सुधार करता है। फल में आयरन भी होता है, जो रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के लिए आवश्यक होता है। आलूबुखारा खाने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल करता है कंट्रोल
फल में घुलनशील फाइबर होता है, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद करता है और लिवर में कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को रोकता है। घुलनशील फाइबर पित्त को सोख लेता है, जो कोलेस्ट्रॉल का उपयोग करके उत्पन्न होता है। इसलिए, जब पित्त फल में घुलनशील फाइबर द्वारा भिगोया जाता है, तो लीवर शरीर में जमा कोलेस्ट्रॉल का उपयोग करता है, जिससे कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है।

यह भी पढ़ें -   ससुरालियों पर लगाया गर्भ में पल रहे बच्चे को गिराने का आरोप

स्किन के लिए
आलूबुखारा खाने से आपकी त्वचा मजबूत होती है और आपकी त्वचा का टेक्सचर साफ होता है। फल झुर्रियों को कम करता है और आपकी त्वचा को फिर से जीवंत करता है। जवां दिखने वाली त्वचा के लिए बेर का जूस पिएं।

हड्डियों के लिए अच्छा होता है
कई अध्ययनों के अनुसार, आलूबुखारा खाने से हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार होता है। प्लम में बोरॉन होता है, जो हड्डियों के घनत्व को बनाए रखने और हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। फल फ्लेवोनोइड्स और फेनोलिक यौगिकों में भी समृद्ध है, जो हड्डी के नुकसान को उलट देता है।

बालों की सेहत का रखता है ख्याल
आलूबुखारा एड्रिनल ग्रंथि की थकान को उलट कर बालों का झड़ना रोकता है। यह बालों के विकास को भी बढ़ावा देता है क्योंकि इसमें आयरन की मात्रा अधिक होती है और यह रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। अगर आप घने और मजबूत बाल चाहते हैं तो आलूबुखारा खाएं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.