Aaurved-17

सर्दियों में इम्यूनिटी बढ़ाने के ये हैं सबसे आसान और कारगर तरीके

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। कोरोना महामारी के समय लोगों ने अपने रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने के लिए लोगों ने काफी जोर दिया। भारत को आयुर्वेद का ऐसा वरदान मिला हुआ है जिसमें आज से नहीं बल्कि सैकड़ों सालों से पहले ही इम्युनिटी बढ़ाने के कई उपाय बताये गये हैं। आइये जानते है इम सभी के बारे में..
काढ़ा: रोजाना सुबह में तुलसी, दालचीनी, सोंठ और कालीमिर्च का काढ़ा बनाकर सेवन करें। यदि एक चम्मच तुलसी का पाउडर लेते हैं, तो उसमें उसका आधा भाग दालचीनी, दालचीनी का आधा भाग सोंठ और सोंठ का आधा भाग कालीमिर्च लें। इसे डेढ़ कप पानी में उबालें। जब काढ़े का पानी 60-70 मिलीमीटर रह जाये, तो उसे आंच से उतार लें। अब स्वादानुसार उसमें गुड या मधु डालकर सेवन करें। जिनको बुखार वगैरह हो, वे एक चम्मच से अधिक मधु नहीं लें। इससे बुखार तुरंत उतर सकता है।
अंकुरित अनाज व फल: सुबह-सुबह अंकुरित अनाज को डाइट हिस्सा बनाएं। फाइबर युक्त फलों का सेवन करें। संतरा और सेब जैसे फल खाएं। इससे आपकी इम्युनिटी मजबूत होगी।
तुलसी का पत्ता व मधु: प्रतिदिन एक चम्मच मधु का सेवन करें। इसके अलावा रोज सुबह खाली पेट 4-5 तुलसी के पत्ते खाएं। इससे इम्युनिटी मजबूत होगी।
विटामिन सी युक्त फूड: रोजाना विटामिन सी युक्त फूड लें। इसका सबसे बड़ा स्रोत आंवला है। यदि एक आंवला का सेवन रोजाना किया जाये, तो प्रतिदिन के विटामिन सी की जरूरत की आपूर्ति हो जायेगी। इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पायी जाती है। यदि आंवला उपलब्ध नहीं हो, तो टमाटर का सूप बनाकर पीएं। इसमें मौजूद कैरोटीन इम्युनिटी बढ़ाती है। 4 टमाटर प्लेट में काट लें और उसमें थोड़ा पानी देकर उबालें। इसके बाद इसमें स्वादानुसार गुड़ या नमक मिलाकर सेवन करें।
विटामिन डी: विटामिन डी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर है। प्रतिदिन आधे घंटे के लिए धूप में रहें। विटामिन डी का सबसे बड़ा स्रोत धूप ही है। खासकर बुजुर्गों को अवश्य धूप लेना चाहिए।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.