औषधीय गुणों से भरपूर है त्रिफला

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आयुर्वेद में त्रिफला को बहुत ही लाभकारी माना गया है। आमतौर पर लोग इस चुर्ण का पेट संबंधी समस्याएं जैसे गैस व कब्ज के लिए इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा अन्य समस्याओं को दूर करने के लिए भी इसका सेवन किया जाता है। यह तीन चीजों हरड, बहेडा व आंवला को मिलाकर बना है। त्रिफला अन्य औषधियों के मुकाबले काफी गुणकारी माना जाता है। यह गैलिक एसिड, एलाजिक एसिड, शेबुलिनिक एसिड, एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है जो कई रोग का रामबाण इलाज है।

त्रिफला का यूं करें सेवन
त्रिफला का सेवन कोई भी कर सकता है।अगर आपको कोई रोग नहीं है तो भी आप इसका सेवन कर सकते हैं। चरक संहिता के अनुसार, एक व्यक्ति बिना किसी बीमारी के भी एक वर्ष से अधिक समय के लिए इसका सेवन कर सकता है। आप त्रिफला को 1-2 ग्राम से 5 ग्राम तक की मात्रा में ले सकते है। इसका सेवन पानी या दूध के साथ ही करें।

त्रिफला के स्वास्थ्य लाभ

सिरदर्द दूर भगाएं
भागदौड़ भरी जिंदगी में कई लोगों को सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है। इससे बचने के लिए आप त्रिफला का सेवन कर सकते हैं। त्रिफला, हल्दी, नीम की छाल और गिलोय को पानी में पकाएं जब तक कि पानी आधा बच जाए। फिर इसे छानकर गुड या शक्कर के साथ सेवन करें। इसका कुछ दिन तक सुबह शाम लें। इससे आपको सिर दर्द से राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें -   राज्य के स्थानीय ब्रांडों को बिजनेस कॉरिडोर से जोड़े जाए: डीएम

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए
कई लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है जिसकी वजह से वह लगातार बीमार पड़ जाते हैं। इससे बचने के लिए त्रिफला के सेवन काफी अच्छा रहेगा। यह शरीर को बैक्घ्टीरिया से मुक्त रखता है।

पेट के रोगों के लिए अमृत
त्रिफला की तीनों जड़ीबूटियां पाई जाती हैं जो पेट की अंदर से सफाई करती है। त्रिफला के चूर्ण को गौमूत्र के साथ सेवन करने से अफारा, उदर शूल, प्लीहा वृद्धि आदि रोगों से छुटकारा मिलता है।

कब्ज की समस्या करे दूर
कब्ज की समस्या के लिए त्रिफला बेहद फायदेमंद है। रात को सोते समय त्रिफला चूर्ण को हल्के गर्म दूध या गर्म पानी के साथ सेवन करें। इसके अलावा आप इसे ईसबगोल में मिक्स करके गुनगुने पानी के साथ भी ले सकते हैं। इससे कब्ज की समस्या दूर हो जाएगी।

खून बढ़ाए
एनीमिया से पीड़ित लोगों के लिए त्रिफला का सेवन बहुत लाभकारी है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं बनती हैं जिससे शरीर में कभी खून की कमी नही होती।

एंटी-ऑक्सीडेंट है त्रिफला
त्रिफला में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो उम्र बढ़ाने वाले कारक कम करता है। इसका सेवन करने से आप उम्र से ज्यादा जवां दिखेंगे।

यह भी पढ़ें -   स्व0 लेफ्टिनेंट कमाण्डर अनंत कुकरेती के परिजनों ने की राज्यपाल से मुलाकात

आंखों की रोशनी बढ़ाएं
त्रिफला के सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है। इसका इस्तेमाल करने के लिए शाम को 1 गिलास पानी में 1 चम्मच त्रिफला भिगो दें। फिर सुबह इसे अच्छे से मिलाकर छान लें और इस पानी से आंखों को धोएं। इसके अलावा सुबह पानी में त्रिफला चूर्ण भिगो कर रख दें और शाम को छानकर पी ले। आंखों की रोशनी बढऩे के साथ आंखों संबंधी समस्या से भी राहत मिलेगी।

डायबिटीज के लिए भी बेस्ट
त्रिफला डायबिटीज को कंट्रोल करने में काफी सहायक है। डायबिटीज मरीजों को रोजाना सुबह त्रिफला का सेवन करना चाहिए।

मुंह की दुर्गन्ध करे दूर
कई लोगों के मुंह से काफी दुर्गन्ध आती है। इस समस्या से बचने के लिए त्रिफला बहुत ही लाभकारी माना जाता है। 1 चम्मच त्रिफला को 1 गिलास ताजे पानी मे 2-3 घंटे के लिए भिगो दें। फिर इस पानी को मुंह में थोड़ी देर के लिए रखें और अच्छे से घुमाये। कुछ देर बाद इसे निकाल दें। इसके अलावा त्रिफला चूर्ण से मंजन भी कर सकते हैं। इससे मुंह संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा भी मिलेगा।

त्वचा के लिए भी बेस्ट
त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए त्रिफला बहुत मददगार है। यह शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है जिससे ब्लड साफ होता है और त्वचा संबंधी समस्याएं आसानी से दूर हो जाती है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.